सॉफ्टवेयर क्या है – सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है [2024]

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी लोगों का हमारे इस नए आर्टिकल “सॉफ्टवेयर क्या है” में। आज की इस आर्टिकल के माध्यम से हम आप लोगों को कंप्यूटर के कुछ विशेष भागों के बारे में बताने वाले हैं। जैसे कि सॉफ्टवेयर क्या है, सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या है, एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है, मोबाइल सॉफ्टवेयर क्या है, इसके साथ ही साथ कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है इत्यादि के बारे में डीटेल्ड में बात करने वाले हैं।

सॉफ्टवेयर क्या है
सॉफ्टवेयर क्या है

आज की यह आर्टिकल आप लोगों के लिए बहुत मददगार साबित हो सकती है। अतः आप लोग आज के इस आर्टिकल को ध्यान पूर्वक अंत तक पढ़े  –

सॉफ्टवेयर क्या है?

दोस्तों सॉफ्टवेयर किसी कंप्यूटर का एक अहम हिस्सा होता है जो हार्डवेयर द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले डेटा(data) को संसाधित और नियंत्रित करता है। ज्यादातर लोगों के लिए सॉफ्टवेयर एक बोलबाला शब्द है जो कंप्यूटर पर install किए जाने वाले प्रोग्राम या ऐप्लिकेशन को दिखाता है। सॉफ्टवेयर उस एप्लीकेशन या प्रोग्राम का संग्रह होता है जिसको कंप्यूटर हार्डवेयर पर चलाया जाता है।

इसके अलावा, सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करने वाले लोगों के लिए एक उपकरण का रूप होता है। जिससे वे लोग कंप्यूटर के साथ बातचीत कर सकते हैं। सॉफ्टवेयर बहुत सारे उपयोगों के लिए उपलब्ध रहता है जैसे वर्ड प्रोसेसर, ऑपरेटिंग सिस्टम, स्प्रेडशीट, वेब ब्राउज़र, डेटाबेस, आदि।

Also Read :- भारत का राष्ट्रीय खेल क्या है | भारत का राष्ट्रीय खेल कौन सा है [2024]

सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या है?

सिस्टम सॉफ्टवेयर एक तरह का सॉफ्टवेयर होता है जो कंप्यूटर हार्डवेयर को नियंत्रित करने में सहायक होता है। यह कंप्यूटर सिस्टम के सभी हिस्सों के लिए आवश्यक होता है, जिनमें ड्राइवर, नेटवर्क सॉफ्टवेयर, ऑपरेटिंग सिस्टम और विभिन्न प्रकार के सॉफ्टवेयर शामिल होते हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम एक मुख्य सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है जो सम्पूर्ण कंप्यूटर सिस्टम को नियंत्रित करता है। यह अन्य हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर को संचालित करने के लिए सहायक होता है और यूजर्स को अन्य सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के साथ संवाद करने में सहायक करता है।

ड्राइवर एक और System Software होता है जो कंप्यूटर के हार्डवेयर उपकरणों को पूर्ण रूप से संचालित करता है। यह अलग अलग हार्डवेयर उपकरणों जैसे प्रिंटर, माउस स्कैनर, कीबोर्ड इत्यादि को संचालित करने में सहायक करता है।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है?

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर एक प्रकार का सॉफ्टवेयर होता है जो किसी विशेष कार्य को करने के लिए बनाया जाता है। एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को प्रोग्राम के रूप में भी जाना जाता है। एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल उपयोगकर्ता आमतौर पर व्यवसाय, शैक्षणिक, और मनोरंजन इत्यादि जैसे लक्ष्यों को करने के लिए बनाया जाता है। उदाहरण के लिए, एक ऑफिस स्प्रेडशीट, वेब ब्राउज़र, एक ईमेल क्लाइंट, एक ऑडियो प्लेयर, एक वीडियो एडिटर और एक गेम इत्यादि। उपरोक्त उदाहरण एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के उदाहरण हैं।

मोबाइल सॉफ्टवेयर क्या है?

दोस्तों एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर भी एक प्रकार का सॉफ्टवेयर होता है जो यूजर्स को कंप्यूटर में कई सारे कार्यों को करने में मदद करता है। उपयोगकर्ताओं को यह सॉफ्टवेयर अनुप्रयोगों के रूप में उपलब्ध होता है। जो उन लोगों को अलग-अलग कार्यों को संपादित करने में मदद करता है, जैसे कि डाटा एंट्री, शब्द प्रसंस्करण, ग्राफिक्स डिजाइन, वीडियो एडिटिंग इत्यादि।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर बहुत प्रकार के होते हैं, जैसे कि स्प्रेडशीट बनाने, जो शब्द प्रसंस्करण प्रबंधित करने, ऑफिस सॉफ्टवेयर और प्रेजेंटेशन बनाने इत्यादि के लिए उपयोग किया जाता है। वेब ब्राउज़र एप्लीकेशन, जो इंटरनेट पर संचार करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। जैसे संचार एप्लीकेशन, चैट, जो ईमेल, वीडियो कॉल इत्यादि के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

Also Read :- Height Kaise Badhaye | 10+ जल्दी हाइट बढ़ाने के तरीके

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है ?

यह भी एक प्रकार का सॉफ्टवेयर होता है जो कंप्यूटर परिसंचार या फिर कंप्यूटर के उपकरणों को चलाने और उन्हें कार्य करने में सहायक होता है। यह सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, ऑपरेटिंग सिस्टम और यूजर्स सॉफ्टवेयर सहित अन्य सभी Softwares को शामिल करता है।

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के मुख्य 3 प्रकार होते हैं –

  • ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर
  • उपयोगकर्ता सॉफ्टवेयर।

ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का सबसे मुख्य सॉफ्टवेयर होता है जो कंप्यूटर के सभी हार्डवेयर को संचालित करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर, कंप्यूटर के सभी संसाधनों को व्यवस्थित करता है। जैसे कि कंप्यूटर की मेमोरी, संचार और प्रोसेसर इत्यादि।

सॉफ्टवेयर का इतिहास

दोस्तों सॉफ्टवेयर का इतिहास सन् 1940 के दशक में आरंभ हुआ था। जब तक समुदाय ने संगणक के लिए सॉफ्टवेयर लिखने की योजना बनाई तब तक इस समुदाय को Harvard University के छात्रों तथा शोधकर्ताओं ने मिलकर बना लिया।

1950 के दशक में नए उद्योगों एवं नए यूजर्स के लिए सॉफ्टवेयर का विकास शुरू हुआ। इस दशक में  सॉफ्टवेयर का जन्म हुआ। जो कि संगणक के लिए Colorful Note लिखा गया था।

1960 के दशक में, व्यवसाय और सरकारी संस्थाओं में  सॉफ्टवेयर का फैलाव/प्रसार होने लगा। इस दशक में फोरट्रैन, एम्बोस, एमएस-डॉस जैसे सॉफ्टवेयर का विकास हुआ था।

1970 के दशक में, व्यक्तिगत रूप से कंप्यूटर का आगमन हुआ। जिससे कुछ सॉफ्टवेयर इंडस्ट्रियों ने बड़ा कदम उठाया।

सॉफ्टवेयर का क्या काम है?

सॉफ्टवेयर के जरिए आप कंप्यूटर के उपकरणों को अपने विचारों और आवश्यकताओं के अनुसार इस्तेमाल कर सकते हैं। सॉफ्टवेयर की सहायता से आप कुछ भी बना सकते हैं। जैसे लेख, फोटो संपादित करना, वीडियो देखना, ऑनलाइन खरीदारी करना, संदेश भेजना तथा वेबसाइट बनाना इत्यादि।

इसके अलावा, सॉफ्टवेयर यूजर्स को अपने अनुकूल बनाये रखने में मदद करता है।

सॉफ्टवेयर के प्रकार – Types of Software in Hindi

Software को उसके कार्यों के आधार पर मुख्य रूप से 2 भागों में बांटा गया है –

  • System Software
  • Application Software

1. System Software

इस श्रेणी के सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल हार्डवेयर के संचालन तथा Computer Program को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है। System Software को आमतौर पर अग्रभूमि प्रक्रिया का समर्थन करने के लिए background में चलाते हैं। सिस्टम सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर के साथ संचार करने से लेकर CPU, Memory को कंट्रोल तथा Monitor करता है। इसके अलावा अन्य एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के विकास और निष्पादन मैं समर्थन करता है।

Software को मुख्य रूप से 4 भागों में विभाजित किया गया है – 

a) Operating System

Operating System, यूजर्स को एक device पर अन्य एप्लीकेशन को चलाने की अनुमति देता है। ऑपरेटिंग सिस्टम हार्डवेयर तथा एप्लीकेशन के बीच इंटरफेस के रूप में काम करता है। OS कंप्यूटर को Operate करने से सम्बंधित कई टेक्निकल कार्यो को संभालता है। यदि आप लोग सभी डिवाइस को ऑपरेट करना चाहते हैं कि इसके लिए आप लोगों को सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है।

उदाहरण: Android, Windows, iOS, macOS, Linux and Unix, etc.

b) Utilities

Utilities भी एक प्रकार से सर्विस प्रोग्राम होता है। Utilities का इस्तेमाल आप लोगों के कंप्यूटर की परफारमेंस और कार्यक्षमता को बनाए रखने के लिए किया जाता है। Utilities को कुछ लोग सहायक प्रोग्राम भी कहते हैं। जो किसी सिस्टम की क्षमता को बनाये रखने तथा बिगाड़ने के लिए विशिष्ट उपयोगी कार्य करता है। Utilities iOS के साथ एक Tool Kit के रूप में आते है।

Example:-  Antivirus, Data Recovery, Data Backup, Firewall, System Diagnosis and Defragmentation etc.

c) Device Driver

किसी हार्डवेयर डिवाइस को किसी कंप्यूटर से कम्यूनिकेट करने के लिए एक विशेष प्रकार के Software की आवश्यकता होती है। जिसे हम लोग Device Driver भी कहते हैं। जो Operating System के साथ मिलकर काम को करता है। उदाहरण के लिए जब हम लोग कीबोर्ड को कंप्यूटर से कनेक्ट करते है, तो कीबोर्ड के सही से काम करने के लिए कंप्यूटर में पहले से ही एक कीबोर्ड ड्राइवर लगा होता है।

उदाहरण :- Printer Drivers, USB Drivers, Motherboard Driver, Network Adapter Drivers, VGA Drivers and ROM Drivers etc.

d) Language Translator

यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में लिखे इंटरक्शन्स का कोड को मशीन लैंग्वेज में translate करते है, ताकि कंप्यूटर मशीन लैंग्वेज में समझकर पूरे प्रोसेस को कर सके। सभी तरह के Software को विभिन्न प्रकार की प्रोग्रामिंग लैंग्वेसेस में लिखा जाता है। लेकिन कंप्यूटर केवल मशीनी लैंग्वेज को ही समझ पाता है। इसीलिये मशीनी लैंग्वेजेस में अनुवाद करने के लिए Software का इस्तेमाल किया जाता है।

उदाहरण :- Interpreter, Compiler, and Assemblers etc.

2. Application Software

Application software कंप्यूटर प्रोग्राम का एक प्रकार होता हैं जो यूजर्स के अलग अलग कार्यों को करने के लिए डिज़ाइन किया जाता है। जैसे वर्ड प्रोसेसिंग, ईमेल, इमेज एडिटिंग, वेब ब्राउज़िंग, और गेमिंग इत्यादि। Application software सिस्टम सॉफ्टवेयर से बहुत अलग होता है, जो Computer को चलाने के लिए आवश्यक उपकरण और ढांचे को प्रदान करता है।

Application software को 2 वर्गो में विभाजित किया गया है — 

a) Basic Application Software

इन्हें सामान्य उद्देशीय एप्लीकेशन भी कहा जाता है। जैसे :- स्प्रेडशीट, वर्ड प्रोसेसर, और डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) इत्यादि। Basic Application Software के निम्न प्रकार हैं। इसका इस्तेमाल लगभग प्रत्येक व्यवसाय में किया जाता है।

b) Specialized Application Software

Application Software के कुछ खास प्रकार के सोफ्टवेयर इस श्रेणी में आते है। आप लोग जिस वेब ब्राउज़र में इस post को पढ़ रहे हैं। वह वेब ब्राउज़र भी इसी श्रेणी में आता है। वेब ब्राउज़र के अलावा म्यूजिक प्लेयर, वीडियो एडिटर तथा सोशल मीडिआ ऐप इत्यादि। इन सभी एप्लीकेशन को एक खास मकसद के लिए बनाया जाता है। जिसको हम Specialized Application Software कहते हैं। 

सॉफ्टवेयर कैसे बनाये

यदि आप लोग सॉफ्टवेयर बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आप लोगों को कुछ निम्न स्टेप्स को फॉलो करना होगा —

विश्लेषण :-  सॉफ्टवेयर बनाने से पहले आप लोग उस उद्देश्य का विश्लेषण करें जो आप लोग इस सॉफ्टवेयर से प्राप्त करना चाहते हैं। आप लोगों को उस फीचर तथा फंक्शन का विश्लेषण करना होगा। जिसे आप लोग अपने सॉफ्टवेयर में सम्मिलित करना चाहते हैं।

निर्माण योजना :- उद्देश्य के आधार पर, आप लोगों को एक निर्माण योजना बनानी पड़ेगी। यह योजना सॉफ्टवेयर के बनाने के तरीके, यूजर्स के अनुभव, इंटरफेस, लेआउट, टेस्टिंग तथा अन्य चीजों के बारे में बताती है।

कोडिंग :- यदि आप लोग सॉफ्टवेयर बनाना चाहते हैं तो कोडिंग सॉफ्टवेयर बनाने का एक महत्वपूर्ण चरण होता है। आप लोगों को एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का चयन करना होगा जैसे C++, Java तथा Python. इसके बाद आप लोगों को उस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल करके सॉफ्टवेयर को लिखना होगा।

हम आप लोगों को नीचे कुछ प्रमुख प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में बता देते हैं –

  1. Python
  2. JavaScript
  3. PHP
  4. Java Language
  5. C Language
  6. C#
  7. C++
  8. Swift
  9. TypeScript
  10. Kotlin
  11. Go

सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर में अंतर

सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर दोनों कंप्यूटर टेक्नोलॉजी में बहुत अहम होते हैं, लेकिन ये दोनों एक दूसरे से बहुत अलग होते हैं।

हार्डवेयर कंप्यूटर की फिजिकल यानी कि भौतिक उपकरणों का नाम है। जो कंप्यूटर के भीतर ही स्थापित होते हैं तथा कंप्यूटर को इनपुट तथा आउटपुट देने की क्षमता प्रदान करते हैं। हार्डवेयर कंप्यूटर की स्पीड, स्टोरेज, संचार और अन्य कंप्यूटर ऑपरेशन के लिए आवश्यक होता है। 

दोस्तों सॉफ्टवेयर एक कंप्यूटर कार्यक्रम होता है, जो हार्डवेयर पर निर्भर होकर चलता है। सॉफ्टवेयर आप लोगों को फंक्शन, सुविधाओं तथा सेवाओं के लिए अपने कंप्यूटर पर संचालित करता है। यूजर्स के लिए सॉफ्टवेयर एक संचार का माध्यम होता है। इसमें भिन्न-भिन्न उपकरणों के लिए भिन्न-भिन्न सॉफ्टवेयर होता है।

सॉफ्टवेयर क्या है से संबंधित: FAQ’s :-

Q. कम्प्यूटर सॉफ़्टवेयर कहां मिलते है?

आप लोग अपने कंप्यूटर के लिए सॉफ्टवेयर को कहीं से भी ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीद सकते हैं। इन सब को Applications Service Providers (ASP) उपलब्ध करवाते हैं।

Q. सॉफ्टवेयर क्या है परिभाषा In Hindi ?

System software, कंप्यूटर सिस्टम का एक भाग होता है। जिसमें कंप्यूटर के डेटा या निर्देश को शामिल किया जाता है। कंप्यूटर के हार्डवेयर को संचालित करने के लिए कंप्यूटर प्रोग्राम्स का इस्तेमाल किया जाता है।  जिसे हम लोग सॉफ्टवेयर कहते हैं।

Q. सॉफ्टवेयर क्या है सॉफ्टवेयर के प्रकार कितने हैं?

Software मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते हैं। System Software, Utility Software तथा Application Software

Conclusion (सॉफ्टवेयर क्या है)

दोस्तों हम आशा करते हैं कि आज कि यह आर्टिकल (सॉफ्टवेयर क्या है) आप लोगों को अच्छी लगी होगी और हमारे द्वारा बताए गए जानकारी से आप लोग सहमत होंगे। 

यदि आज की यह सॉफ्टवेयर क्या है जानकारी आप लोगों को अच्छी लगी हो तो आप लोग इस जानकारी को अपने दोस्तों के पास शेयर करना ना भूले।  

यदि अब भी आप लोगों के पास इस टॉपिक (सॉफ्टवेयर क्या है) से जुड़ा हुआ कोई सवाल या फिर कोई डाउट है तो आप लोग कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment